शनिवार, 22 मई 2010

सूत्र- 82


प्रतिक्रिया परिवर्तन की प्रक्रिया का प्रारंभ है.

4 टिप्‍पणियां:

  1. उम्दा प्रस्तुती और संदेशात्मक तस्वीर के लिए धन्यवाद /दिल्ली में कल पूरे देश के ब्लोगरों के सभा का आयोजन किया जा रहा है जो ,नांगलोई मेट्रो स्टेशन के पास जाट धर्मशाला में 3 से 6 बजे तक किया जा रहा है ,आप सबसे आग्रह है की आप लोग इसमें जरूर भाग लें और एकजुट हों / ये शुभ कार्य हम सब के सामूहिक प्रयास से हो रहा है /अविनाश जी के संपर्क में रहिये और उनकी हार्दिक सहायता हर प्रकार से कीजिये / अविनाश जी का मोबाइल नंबर है -09868166586 -एक बार फिर आग्रह आप लोग जरूर आये और एकजुट हों /
    अंत में जय ब्लोगिंग मिडिया और जय सत्य व न्याय
    आपका अपना -जय कुमार झा ,09810752301

    उत्तर देंहटाएं
  2. अनुप्रास अलंकार....एकदम घन....

    उत्तर देंहटाएं
  3. नहीं जी तुरंत कर्म और परि‍णाम परि‍वर्तन का प्रारंभ है। प्रतिक्रि‍या तो कुछ भी हो सकती है अहंकार, शाब्‍दि‍क प्रलाप, और मूल कर्म को टालने का माध्‍यम मात्र।

    उत्तर देंहटाएं