रविवार, 2 जून 2013

सूत्र - 148



दुःख अपनी संरचना में आध्यात्मिक होता है और सुख भौतिक.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें