मंगलवार, 8 जुलाई 2014

सूत्र - 153

निसर्ग कलाकार है, सभ्यताएँ दुनियादार.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें