बुधवार, 30 दिसंबर 2009

सूत्र-54


बड़ा अजीब दौर है ये, यहाँ अच्छाई अविश्वसनीय हो चली है..

3 टिप्‍पणियां:

  1. सदैव की तरह सहजता से कहे गये सूत्र-वाक्य ! आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. Kyaa baat hai,आज की सच्चाई, बहुत खूब, लाजबाब ! नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये !

    उत्तर देंहटाएं